रेलवे ने बढ़ाया प्लेटफॉर्म टिकट का दाम, अलग-2 शहरों में रहेगी कई गुना कीमत

पिछले एक साल से कोरोना महामारी से निपटने के लिए लागू लॉकडाउन के दौरान जब बंदिशें लागू हुई थीं तो प्लेटफॉर्म टिकटों की बिक्री भी बंद हो गई थी। लेकिन अब रेलवे स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट मिलने शुरू हो गए हैं। मगर प्लेटफॉर्म टिकटों के दाम सुनकर किराए में बढ़ोतरी से परेशान यात्रियों के और होश उड़ जा रहे हैं।

कम दूरी के ट्रेनों के किराए में बढ़ोतरी के बाद अब कहीं 30 रुपए तो कहीं 50 रुपए प्लेटफॉर्म टिकट के रेट तय किए गए हैं। दिल्ली में जहां प्लेटफॉर्म टिकट के दाम में तीन गुना तो मुंबई में पांच गुना बढ़ोतरी की गई है।

दिल्ली के स्टेशनों पर एक प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत अब 30 रुपये है, जो पहले 10 रुपये हुआ करती थी। वहीं, महाराष्ट्र में इसकी कीमत 50 रुपए हो गई है। इस पर रेलवे का कहना है कि भीड़ कम करने के लिए ऐसा किया जा रहा है।

रेलवे ने कहा कि प्लेटफॉर्म टिकट की कीमतों में वृद्धि कुछ दिनों के लिए यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए स्टेशनों पर भीड़ को कम करने के लिए किया गया है।

प्लेटफॉर्म टिकटों के रेट में बढ़ोतरी का नोटिफिकेशन जारी करने के बाद रेलवे ने सफाई दी है कि यह यात्रियों की सुरक्षा के लिए और स्टेशनों पर भीड़भाड़ को रोकने के लिए रेलवे प्रशासन द्वारा किया उठाया गया एक अस्थायी उपाय है।

यह भी पढ़ेंः अब और महंगा होगा रेलवे का किराया, 120 स्टेशनों पर जल्द लागू हो सकता है यूजर चार्ज

रेल मंत्रालय ने कहा कि स्टेशनों पर भीड़ का नियंत्रण मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) की जिम्मेदारी है। स्टेशन पर जाने वाले अधिक लोगों को रोकने के लिए कुछ समय के लिए प्लेटफॉर्म टिकट के रेट बढ़ाए गए हैं। यह फैसला जमीनी स्तर पर आंकलन करने के बाद लिया गया है। प्लेटफॉर्म टिकट के रेट तय करने की जिम्मेदारी डीआरएम को सौंप दी गई है।

मंत्रालय ने कहा कि इस तरह के उपाय सालों से किए जा रहे हैं और समय-समय पर कुछ अवधि के लिए भीड़ को कंट्रोल करने के लिए अक्सर प्लेटफॉर्म के टिकट के दाम बढ़ाए जाते रहे हैं। इसमें नया कुछ भी नहीं है।

बता दें कि फरवरी महीने में रेलवे ने छोटी दूरी के ट्रेन किरायों में भी बढ़ोतरी की थी और कारण बताया था कि अनावश्यक ट्रेवलिंग से लोगों को रोकने के लिए ऐसा किया गया है।

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.