हलफनामे में 15 साल का फर्जीवाड़ा करने वाले डिप्टी CM को लेकर नीतीश बुरे फंसे

 BY- FIRE TIMES TEAM

बिहार चुनाव के नतीजे आने के बाद जेडीयू काफी कमजोर हो गई है। उत्तर प्रदेश की तर्ज पर वहां भी दो उप-मुख्यमंत्री बनाये गए हैं। ये दो लोग तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी हैं। दोनों पर आपराधिक केस भी दर्ज है।

अब तारकिशोर को लेकर एक खबर सामने आ रही है जिसमें उम्र को लेकर गड़बड़ी की बाद कही जा रही है।

तारकिशोर ने हलफनामें में जो उम्र चुनाव आयोग को बताई है उसमें काफी लोचा है। उनके द्वारा दिये गए हलफनामे के अनुसार वह 2005 में 48 साल के थे।

5 साल बाद 2010 में वह सिर्फ एक साल ही बड़े हुए और इस बार हलफनामे में 49 साल उम्र दिखाई।

फिर 5 साल बाद 2015 में उनकी उम्र 3 साल बढ़कर 52 हो गई। और आखिरी के 5 साल में तारकिशोर एकदम से 12 साल बड़े होकर 64 साल के हो गए।

यह जानकारी पत्रकार उत्कर्ष सिंह ने अपने ट्विटर के माध्यम से शेयर करके दी है। उन्होंने इसके लिए चुनाव आयोग को दिए गए हलफनामे की फ़ोटो डाली है।

आपको बता दें कि तारकिशोर सिर्फ 12वीं पास हैं और उन्हें वित्त मंत्रालय का कार्यभार सौंपा गया है। वह एबीवीपी से लंबे समय से जुड़े रहे हैं और संघ के मौजूदा समय में भी सदस्य हैं।

तारकिशोर पहली बार 2005 में कटिहार से चुनाव लड़कर विधायक बने थे। तब से लगातार वह जीतते आ रहे हैं। इस बार भी वह कटिहार से ही चुनाव जीतकर विधायक बने हैं।

 

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.