दिल्ली का देशभक्ति बजट हो रहा है पेश, नर्सरी के बच्चों के लिए देशभक्ति का अलग पीरियड

 

दिल्ली का 2021-22 का बजट विधानसभा में पेश किया जा रहा है। वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया सदन में दिल्ली का पहला डिजिटल बजट पेश कर रहें है। वित्त मंत्री ने 2021-22 के लिए 69 हजार करोड़ रुपये का प्रस्तावित बजट पेश किया।

उन्होंने बताया कि इस बार लोगों के लिए स्कीम का खर्च 55 फीसदी, जबकि सरकारी खर्च 45 फीसदी रहेगा। वहीं, इस बजट में दिल्लीवासियों को मुफ्त कोरोना टीका देने का ऐलान किया। केजरीवाल सरकार के इस बजट से जनता को काफी उम्मीदें हैं।

दिल्ली में 1397 नए बस क्यू शेल्टर बनाए जाएंगे।

योग को बढ़ावा देने के लिए हर कॉलोनी के स्तर पर प्रशिक्षक दिल्ली सरकार उपलब्ध कराएगी।

योग को बढ़ावा देने के लिए 25 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

सिर्फ सरकारी अस्पतालों में कोविड वैक्सीन निशुल्क लगाई जाएगी। इसके लिए 50 करोड़ की व्यवस्था की गई है।

दिल्ली के लोगों को स्वास्थ्य कार्ड दिए जाएंगे। कुल 9934 स्वास्थ्य क्षेत्र पर खर्च होंगे।

उच्च शिक्षा में आजादी से अब तक बहुत बेहतर काम नही कर पाए हैं। मगर हमारी सरकार इस क्षेत्र पर बहुत ध्यान दे रही है। दिल्ली में अच्छे शिक्षकों को तैयार करने के लिए एक विश्वविद्यालय बनेगा। दिल्ली में ला विश्वविद्यालय बनेगा। शिक्षा के क्षेत्र पर इस बार 16377 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

दिल्ली में ओलंपिक खेलों का आयोजन होना चाहिए। दिल्ली में अगले 25 सालों में खेलों के क्षेत्र में इतना काम किया जा सके कि ओलंपिक कमेटी का ध्यान दिल्ली की तरफ आए।

यह भी पढ़ेंः दिल्ली का होगा अपना शिक्षा बोर्ड, तैयार करेगा कट्टर देशभक्त- केजरीवाल का ऐलान

ल्ली स्कूल एजुकेशन एक्ट व दिल्ली यूनिवर्सिटी एक्ट को बदला जाएगा। इसके लिए केंद्र सरकार से अनुरोध किया गया है। नई शिक्षा नीति लागू करने के लिए ये जरूरी होगा।

टीचर ट्रेनिंग यूनिवर्सिटी बनाई जाएगी, जिसमें देश और दुनिया के बेहतरीन टीचरों की मदद से दिल्ली के लिए अच्छे टीचर तैयार किए जाएंगे। इसके साथ ही दिल्ली लॉ यूनिवर्सिटी (विधि विश्वविद्यालय) भी खोली जाएगी।

वर्चुअल दिल्ली मॉडल स्कूल शुरू किया जाएगा, जिसमें वर्चुअल तरीके से पढ़ाई शुरू की जाएगी। ये दिल्ली का अपना अनूठा प्रयोग होगा और शायद दुनिया का पहला इस तरह का स्कूल होगा। इसमें देशभर के बच्चों को दिल्ली के शिक्षा मॉडल की तरह पढ़ने का मौका मिलेगा।

दिल्ली का अपना शिक्षा बोर्ड होगा। 100 स्कूल ऑफ एक्सीलेंस तैयार किए जाएंगे। नर्सरी से आठवीं कक्षा तक का नया पाठ्यक्रम बनेगा और कट्टर देशभक्त बच्चे बनाए जाएंगे। इसके लिए देशभक्ति के पाठ्यक्रम का एक अलग घंटा होगा।

दिल्ली सरकार लोगों को कोरोना का टीका निशुल्क उपलब्ध कराएगी। वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने इसके लिए 50 करोड़ रुपये दिए हैं। इसके साथ ही महिलाओं के लिए 100 विशेष महिला मोहल्ला क्लीनिक अगले साल से खोले जाएंगे।

देश में 39 सैनिक स्कूल हैं, लेकिन दिल्ली में एक भी सैनिक स्कूल नहीं है। ऐसे में दिल्ली में एक सैनिक स्कूल बनाने का प्रस्ताव किया गया। इसके अलावा दिल्ली आर्म्ड फोर्सेज प्रिपरेटरी एकेडमी की स्थापना की जाएगी।

आजादी के 75वें वर्ष के जश्न के लिए बजट में विशेष प्रावधान किया गया है। इसके तहत दिल्ली में 500 जगहों पर तिरंगा लहराया जाएगा। स्कूलों में देशभक्ति पाठ्यक्रम की शुरुआत होगी।

आजादी की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर देशभक्ति बजट पेश किया जा रहा है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पेपरलेस बजट पेश किया है।

अपने बजट भाषण में कहा उन्होंने कहा कि दिल्ली में वर्ष 2019-20 में प्रति व्यक्ति आय 2,74,671 थी। वहीं वर्ष 2020-21 में प्रति व्यक्ति आय 3,54,004 रुपये रही। आगामी वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 69 हजार करोड़ का बजट पेश किया।

वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर 75 सप्ताह तक आगामी 12 मार्च से देशभक्ति महोत्सव शुरू हो रहा है। ऐसे में देश भक्ति बजट पेश किया जा रहा है।

दिल्ली के कुल बजट में से 37,800 करोड़ रुपये विभिन्न परियोजनाओं व बुनियादी ढांचे के विकास पर खर्च किए जाएंगे।

आम आदमी पार्टी की सरकार का यह सातवां बजट है।

 

 

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.