राजधानी में हुई हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस ने 200 लोगों को किया गिरफ्तार

राजधानी में 72वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर आयोजित किसानों की परेड के दौरान कुछ उपद्रवियों द्वारा लालकिले पर झंडा फहराने और पुलिस के साथ हिंसा के मामले के बाद पुलिस ने सख्ती शुरू कर दी।

पुलिस ने स्वराज इंडिया के संस्थापक योगेंद्र यादव समेत कई किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर 22 दर्ज की है।

इसके अलावा, पुलिस ने 200 लोगों को हिरासत में भी लिया है, जिसके बाद बाकी को गिरफ्तार करने की तैयारी चल रही है।

दिल्ली के पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव राजधानी में हुई हिंसा की स्थिति पर चर्चा करने के लिए बुधवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की।

माना जा रहा है कि पुलिस किसान नेताओं के खिलाफ शिकंजा कसने की तैयारी में है।

दिल्ली में मंगलवार को हजारों की संख्या में किसानों ने ट्रैक्टर परेड निकाली थी,लेकिन कुछ ही देर में राजधानी की सड़कों पर अराजकता फैल गई।

यह भी पढ़ेंः हिंसा के लिए किसान नेताओं ने अभिनेता दीप सिद्धू को दोषी ठहराया, कहा वही ले गए थे किसानों को लाल किले तक

कई जगह प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के बैरिकेड्स को तोड़ दिया।

प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के साथ झड़प की, वाहनों में तोड़ फोड़ की और लाल किले पर एक धार्मिक ध्वज लगा दिया था।

अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के संबंध में अभी तक 22 एफआईआर दर्ज की हैं।

हिंसा में 300 से अधिक पुलिस कर्मी घायल हो गए थे।

सू्त्रों के हवाले से खबर है कि साइबर सेल ने 1 हजार से अधिक ट्विटर हैंडल की पहचान की।

जिन्होंने प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से कल की घटना में अहम भूमिका निभाई, इनमें कई बड़े नाम भी शामिल हैं।

About Admin

One comment

  1. Pingback: %title%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *