तमिलनाडु: पिता-पुत्र की हिरासत में मौत के जिम्मेदार पुलिस अधिकारी की COVID-19 से हुई मृत्यु

BY- FIRE TIMES TEAM

तमिलनाडु के थौथुकुडी जिले में एक पुलिस उप-निरीक्षक, जो पिता-पुत्र की जोड़ी की हिरासत में मौत के मामले में गिरफ्तार 10 पुलिस कर्मियों में से एक था, की सोमवार को तड़के मदुरई में COVID -19 (कोरोना वायरस) से मौत हो गई।

पॉलोनुराई का कोरोना वायरस के लिए पॉजिटिव टेस्ट आने के बाद 24 जुलाई को सरकारी राजाजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

जब वे मदुरै सेंट्रल जेल में थे उसी दौरान उन्हें कोरोना वायरस संक्रमण हुआ था। 56 वर्षीय पुलिस अधिकारी को अनियंत्रित मधुमेह भी था।

शुक्रवार को, पॉल्डुराई की पत्नी ने शिकायत की थी कि उनके पति की स्वास्थ्य की स्थिति बिगड़ रही है।

मंगयार थिलागम और परिवार के अन्य सदस्यों ने उनके लिए विशेष चिकित्सा देखभाल के लिए थूथुकुडी पुलिस अधीक्षक के पास याचिका भी दायर की थी।

हिरासत में हुई मौतें

पुलिस हिरासत में कथित रूप से क्रूरतापूर्वक प्रताड़ित किए जाने के बाद जयराज और उनके बेटे बेनिक्स की मृत्यु हो गई थी।

उन्हें पूछताछ के लिए 19 जून को हिरासत में ले लिया गया था क्योंकि उन्होंने लॉक डाउन के दौरान अपने मोबाइल एक्सेसरीज़ की दुकान को खुला रखा था। बाद में उन्हें कोविलपट्टी उप-जेल में भेज दिया गया।

22 जून को, बेनिक्स ने सांस लेने में तकलीफ की शिकायत की और उन्हें स्थानीय सरकार द्वारा संचालित अस्पताल में भर्ती कराया गया। बाद में उनकी इलाज के दौरान मृत्यु हो गई थी और अगले दिन उनके पिता की मृत्यु हो गई।

तमिलनाडु में हिरासत में हुई मौतों ने बड़े पैमाने पर सार्वजनिक आक्रोश पैदा कर दिया था।

राज्य सरकार ने 29 जून को मद्रास उच्च न्यायालय से मंजूरी के बाद मामले को केंद्रीय जांच ब्यूरो को स्थानांतरित कर दिया था।

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.