खेल रत्न पुरूस्कारों को राजीव गांधी के नाम से दिये जाने पर बबीता फोगाट ने उठाये सवाल

BY – FIRE TIMES TEAM

हरियाणा की शेरनी और धाकड़ गर्ल के नाम से ट्विटर में ट्रेंड कराने वाली दंगल गर्ल अन्तराष्ट्रीय पहलवान और भाजपा नेत्री बबीता फोगाट ने खेलरत्न पुरूस्कारों को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम से दिये जाने पर आपत्ति जताई है। एक ट्वीट के माध्यम से अन्तराष्ट्रीय खेल दिवस पर बबीता फोगाट ने पूर्व प्रधानमंत्री पर तंज कसा है।

यह पहली बार नहीं है जब बबीता फोगाट ने आपत्तिजनक टिप्पणी की है। इससे पहले भी जमातियों को ट्वीट करके सीधे तौर पर कोरोना फैलाने के लिए जिम्मेदार ठहराया था। और हाल ही में शुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद अभिनेत्री कंगना का समर्थन करते हुए फिल्म इंडस्ट्री को कठघरे में खड़ा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी।

आपको बता दें कि इस बार देश का सर्वोच्च खेल पुरूस्कार, राजीव गांधी खेलरत्न पुरूस्कार बबीता की बहन वीनेश फोगाट के अलांवा क्रिकेटर रोहित शर्मा, मनिका बत्रा, रानी रामपाल और मरियप्पन थैंगावेलु को दिया गया है।

राजीव गांधी पर ऐसी टिप्पणी ने कांग्रेस पार्टी के ऊपर से नीचे तक के नेताओं में खलबली मचा दी। इस ट्वीट पर लोगों ने जवाब देते हुए कहा कि बबीता इस समय भाजपाई कम और मोदी भक्त ज्यादा लग रहीं हैं। इस ट्वीट के बाद ट्रोलर्स भी सक्रिय हो गये।

कांग्रेस के अभिमन्यु सलवाल ने जवाब देते हुए कहा, “पहलानों की अक्ल घुटने में होती है। यह सही है ? आमिर खान की दंगल फिल्म के कारण पैसा और नाम तो हो गया। लेकिन अक्ल पंसारी की दुकान पर नहीं मिलती।”

अन्तराष्ट्रीय स्तर की रेसलर बबीता फोगाट को राष्ट्रमंडल खेलों में 3 पदक ( 1 गोल्ड और 2 सिल्वर ) मिल चुके हैं। बबीता फोगाट ने रेसलिंग से सन्यास लेकर पुलिस की नौकरी छोड़कर 2019 के हरियाणा विधानसभा चुनाव में चरखी दादरी से विधानसभा चुनाव लड़ा लेकिन हार गईं। अब उन्हें फिर से खेल उपनिदेशक की सरकारी नौकरी मिल गई है।

बबीता भाजपा में शामिल होने के बाद से अपने आक्रामक अंदाज के लिए चर्चित रहीं हैं।  वो ट्विटर पर सक्रिय रहती हैं और ट्रोलर्स का जवाब भी बिना किसी की परवाह किए देती हैं। यह सक्रियता दिखाती है कि वह अभी से लोकसभा की तैयारी कर रही हैं।

 

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.