यूपी: प्रदेश में नहीं रुक रहीं बलात्कार की घटनाएं, बलरामपुर में दलित किशोरी के साथ सामूहिक बलात्कार, हुई मौत

BY- FIRE TIMES TEAM

उत्तर प्रदेश के हाथरस के एक दलित किशोरी के कथित सामूहिक बलात्कार और हत्या पर व्यापक आक्रोश के बीच, एक और अनुसूचित जाति की किशोरी की उत्तर प्रदेश राज्य के बलरामपुर जिले में दो युवकों द्वारा बलात्कार के बाद अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई।

बलरामपुर के पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने कहा कि घटना जिले के गेसरी इलाके की है, जहां एक निजी फर्म में काम करने वाली एक 22 वर्षीय दलित किशोरी मंगलवार की शाम जब घर नहीं लौटी तो उसके माता-पिता ने उसकी तलाश शुरू कर दी।

पुलिस ने कहा कि किशोरी के माता-पिता ने बताया कि उसने अपने मोबाइल फोन पर कॉल का जवाब नहीं दिया, जिससे परिवार के सदस्यों में दहशत फैल गई।

पुलिस ने किशोरी के माता पिता द्वारा कही बात को दोहराते हुए बताया कि उनकी लड़की रात में ऑटोरिक्शा से घर लौटी और उसके हाथ में वीगो लगा हुआ था।

एसपी ने कहा कि लड़की घबराई हुई थी और गंभीर हालत में थी। वो बार-बार अपने माता-पिता को पास के अस्पताल ले जाने के लिए बोल रही थी, और जब उसके माता-पिता उसे अस्पताल ले जा रहे थे तब रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।

एसपी वर्मा ने बताया कि जब अस्पताल से पुलिस को इस मामले की सूचना दी गई, तो माता-पिता ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी ख़बर आई कि इस घटना में अभियुक्तों ने लड़की के हाथ, पैर और कमर तोड़ दिए थे।

बलरामपुर पुलिस ने इस खबर का खंडन किया और और कहा कि हाथ, पैर व कमर तोड़ने वाली बात असत्य है।

माता-पिता की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए, पुलिस ने आरोपी की पहचान शाहिद और साहिल के रूप में की और उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

ईससे पहले हाथरस में भी एक किशोरी के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था जिसमें 4 लोग शामिल थे। किशोरी के साथ मारपीट भी की गई थी जिसकी वजह से उसे काफी गंभीर चोटें भी आई थी।

किशोरी की मौत इलाज के दौरान अस्पताल में हो गई थी और आनन-फानन में पुलिस द्वारा किशोरी के रात में ही बिना घरवालों को बताए अंतिम संस्कार भी कर दिया गया।

यह भी पढ़ें- हाथरस: बेटी का आखरी बार चेहरा भी नहीं देख पाए घरवाले, पुलिस ने किया ज़बरदस्ती अंतिम संस्कार

पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए कहा कि, “हाथरस के बाद अब बलरामपुर में भी एक बेटी के साथ सामूहिक बलात्कार और उत्पीड़न का घृणित अपराध हुआ है व घायलावस्था में पीड़िता की मृत्यु हो गयी है. श्रद्धांजलि! भाजपा सरकार बलरामपुर में हाथरस जैसी लापरवाही व लीपापोती न करे और अपराधियों पर तत्काल कार्रवाई करे।”

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.