photo source : twitter (ani)

यूपी: तीन साल पहले विज्ञापन, साल भर पहले परिणाम फिर भी 535 दन्त चिकित्सक कर रहे हैं नियुक्ति पत्र का इंतजार?

 BY- FIRE TIMES TEAM

उल्लेखनीय है कि इस कोविड-19 महामारी में भी स्वास्थ्य विभाग चिकित्सकों की तैनाती में इतना विलम्ब क्यों कर रहा है जबकि प्रदेश में महामारी को देखते हुए चिकित्सकों की तैनाती अतिआवश्यक है।

उ०प्र० लोक सेवा आयोग प्रयागराज द्वारा 535 दन्त चिकित्सकों का चयन हुआ था जिसका विज्ञापन 3 साल पहले विज्ञापन संख्या- 2/2017-2018 में दिनांक 30/12/2017 को हुआ था।

जिसकी लिखित परीक्षा 17 मार्च 2019 को आयोजित की गई तथा लिखित परीक्षा में सफल अभ्यार्थियों का साक्षात्कार 16 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक लिया गया उसके पश्चात् 2 नवम्बर 2019 को उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने परिणाम जारी कर दिया था।

photo/rajeev yadav

नियुक्ति के लिए विभाग द्वारा काउंसिलिंग भी हो चुकी है लेकिन अभी तक नियुक्ति पाने के लिए चयनित दन्त चिकत्सक लगभग एक साल से बेसब्री से नियुक्ति पत्र का इंतजार कर रहे हैं।

उ०प्र० सरकार को कोविड-19 महामारी को देखते हुए चिकित्सकों की तैनाती जल्द से जल्द कराना चाहिए जिससे दन्त चिकत्सक इस कोविड-19 महामारी में अपनी सेवा दे सके।

भवदीय
डाॅ०अवधेश चौधरी (राष्ट्रीय सचिव, अखिल दन्त चिकत्सक वेलफेयर एसोसिएशन)

भवदीय
डाॅ० प्रकाश कुमार पाण्डेय
( सचिव,नेशनल मेडिकोज ऑर्गेनाइजेशन)

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.