मोदी सरकार इस बार Lateral Entry से संयुक्त सचिव और निदेशक पद के लिए 30 नयी नियुक्तियां करने जा रही है

 BY- FIRE TIMES TEAM

मोदी सरकार ने अपनी महत्वाकांक्षी लेटरल एंट्री योजना शुरू करने के दो साल बाद संयुक्त सचिवों (जेएस) और निदेशकों के स्तर पर 30 पदों को भर्ती करने के लिए विज्ञापन दिया है।

यूपीएससी के एक विज्ञापन के अनुसार, 31 मार्च तक मंत्रालयों, विभागों, सार्वजनिक उपक्रमों, स्वायत्त निकायों के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। अनुबंध तीन साल की अवधि के लिए होगा।

निदेशक पदों के लिए, वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय, वित्तीय सेवा विभाग, आर्थिक मामलों के विभाग, कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, कानून और न्याय मंत्रालय, स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग, उच्चतर विभाग के लिए पदों का विज्ञापन दिया गया है।

लेटरल एंट्री में संयुक्त सचिवों की स्थिति के लिए 15 वर्ष का अनुभव और निदेशकों की स्थिति के लिए 10 वर्ष के अनुभव की आवश्यकता होगी।

2018 में, सरकार ने कहा था कि लेटरल एंट्री स्कीम सिविल सेवाओं में डोमेन विशेषज्ञता लाने और केंद्र में आईएएस अधिकारियों की कमी की समस्या के समाधान के दोहरे उद्देश्य को पूरा करेगी।

भारत सरकार में संयुक्त सचिव और निदेशक जैसे पदों पर हाल तक सिर्फ संघ लोक सेवा आयोग(UPSC) की परीक्षाओं से चयनित IAS Officers ही नियुक्त होते रहे हैं. इन परीक्षाओं में संवैधानिक बाध्यताओ के चलते सरकार को आरक्षण के प्रावधान लागू करने पडते थे. लेकिन Lateral Entry में ऐसी कोई बाध्यता नहीं रहती.

इससे पहले भी मौजूदा सरकार ने इस तरीके से संयुक्त सचिव स्तर के 9 पदों पर नियुक्तियां की थीं. बीच में कुछ और नियुक्तियां भी होती रहीं. जाहिर है, शुरुआती दौर की नियुक्तियों में किसी वैधानिक घोषणा के बगैर सामान्य कहे जाने वाले उच्च वर्ण के लोगों के लिए 100 फीसदी आरक्षण लागू किया गया था. इस बारे में सरकार ने राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में कहा था कि इन नियुक्तियों में आरक्षण नियमों का पालन नही होता।

जुलाई 2019 में संसद को दिए एक बयान में, कार्मिक राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा था कि 2017 में NITI Aayog और सचिवों के क्षेत्रीय समूह की सिफारिशों के आधार पर सरकार इन नियुक्तियों को देख रही थी। यह तय किया गया है, सिद्धांत रूप में, उप सचिव / निदेशक स्तर पर 40 पदों पर बाहरी विशेषज्ञों को नियुक्त करना है। हालांकि, इस मामले में कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है

 

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.