बिहार : युवक के प्रेम की सजा उसकी मां को मिली, अर्धनग्न किया, महादलित से कराई जबरन शादी

BY – FIRE  TIMES TEAM

आज भी हमारे समाज मेंं ऐसी घटनाएं हो जाती हैं, जिससे हम सोचने पर विवश हो जातेे हैं कि ऐसा तो सिर्फ फिल्मों में ही होता है। एक फिल्म साल 1993 में आई थी अनाड़ी जिसमें युवक की मांं का जबरन विवाह एक पागल से कराने का दृश्य दिखाया गया था।

एक ऐसी घटना बिहार के दरभंगा में घटित हुई हैै। दरअसल दरभंगाा जिले के घनश्यामपुर थाना क्षेत्र के आधारपुर गांव में प्रेम विवाह करने वाले एक युवक की मां के साथ मारपीट, अर्धनग्न, बाल काटने और जबरन महादलित से विवाह कराने का मामला सामने आया है।

यह अमानवीय घटना दीपावली के दिन घटित हुई। दरअसल इसी गांव के उमेश झा के बेटे सोनू झा का पड़ोस के ही अरूण झा की बेटी बिंदिया झा के साथ प्रेम प्रसंग  चल रहा था। लड़की के माता-पिता दिल्ली में रहते हैं। और लड़की गांंव में अपने चाचा-चाची के साथ रहती है।

लड़की 12 नवंबर को परीक्षा देने के लिए निकली लेकिन वापस नहीं लौटी। तो लड़की की चाची ने थाने में 7 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। शनिवार को दीपावली के दिन जब युवक और युवती ने शादी कर ली, तब युवक ने उस शादी की फोटो सोशल मीडिया पर लगाई।

और जब यह जानकारी लड़की के परिजनाें को हुई, उसके बाद लड़की वालों ने युवक के घर पर धावा बोल दिया। युवक की मां, बहू और बेटे के साथ मारपीट की। युवक के एस्बेस्टस के घर को भी ध्वस्त कर दिया। उसकी मां को उठाकर महादलित टोला ले गये वहांं बाल काटकर अर्धनग्न भी कर दिया। यह सब तो कम था कि उसकी मां के गले में एक महादलित के द्वारा माला और मांग में सिंदूर भी डलवा दिया। इस दौरान युवक पिता डर की वजह से भाग गये।

जब गांव वाले महादलित टोले में पहुंचे तो आरोपी वहां से फरार हो गये। लेकिन यह पूरी घटना वहां मौजूद लोगों के मोबाइल में कैद हो गई, और जब सोशल मीडिया पर वायरल हो गई तो पुलिस की बेचैनी बढ़ गई।

इस घटना के बाद  से परिवार के साथ-2 पूरे गांंव में आक्रोश का माहौल है। बुधवार को पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया है। शेष 13 आरोपियों के ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी भी की जा रही है। गांव में पुलिस कैंप भी कर रही है।

पीड़िता के पति के आवेदन पर गांव के ललन झा, बबन झा, शिवजी झा, दिलीप कुमार झा, अनिल झा सहित 10 पुरूष और 5 महिलाएं आरोपित हैं।

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.