राजस्थान के विधायक अब सरकारी खर्चे पर कर सकेंगे विदेशों की सैर

BY – FIRE TIMES TEAM

राजनीतिक संकट के दौरान अपने समर्थक विधायकों को जयपुर और जैसलमेर के पाँच सितारा होटल में ठहराने वाली गहलोत सरकार अब सभी विधायकों को सरकारी खर्चे पर विदेशों की सैर भी करवायेगी।

इस बार के विधानसभा सत्र के लिए 8 विधेयक रखे गये थे। जिसमें राजस्थान विधानसभा ( अधिकारियों तथा सदस्यों की परिलब्धियां एवं पेंशन ) संशोधन विधेयक, 1956 को हंगामे के बीच सोमवार को पास कर दिया है।

अब विधानसभा के सदस्य विदेशी यात्राओं के खर्च की अदायगी करा सकेंगे मतलब विदेशी यात्राओं के बिलों का भुगतान सरकारी खजाने से होगा। इस विधेयक के पास होने के साथ ही पूर्व विधायकों की पेंशन 12,500 से बढ़कर 17,500 रूपये या पूर्व विधायक को मिले अंतिम वेतन का 50 प्रतिशत होगी।

अब इस विधेयक के पास होने के बाद पूर्व विधायकों के साथ ही उप मुख्य सचेतक का सरकारी भत्ता मुख्य सचेतक के सरकारी भत्ते के बराबर 80,000 कर दिया गया है।

अभी तक वर्तमान विधायकों को देश में कहीं भी भ्रमण करने के लिए 3 लाख वार्षिक और पूर्व विधायकों को 1 लाख सालाना दिया जाता है। अब इस विधेयक के पास होने के बाद इस राशि को विदेश भ्रमण में भी प्रयोग किया जा सकेगा।

वहीं आज राजस्थान हाईकोर्ट ने बसपा के छह विधायकों का कांग्रेस में विलय के खिलाफ भाजपा विधायक मदन दिलावर की 16 मार्च को दायर याचिका का निपटारा करते हुए विधानसभा अध्यक्ष से कहा कि वह विधायक की शिकायत पर सुनवाई करें।

कोर्ट ने विधानसभा अध्यक्ष को तीन महीने के अन्दर मामले की सुनवाई करके उसके गुण-दोष के आधार पर निपटारा करने को कहा। न्यायमूर्ति महेन्द्र कुमार गोयल की एकल पीठ ने भाजपा विधायक को अपनी शिकायत विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष रखने को कहा।

 

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.