प्रधानमंत्री का भूमि पूजन पर मंत्रोच्चारण, हंसराज मीणा बोले बेहतर होता संविधान की प्रस्तावना पढ़ते

 BY- FIRE TIMES TEAM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बनने जा रहे नए संसद भवन का भूमिपूजन किया। इस भूमि पूजन में 200 से अधिक लोगों ने भाग लिया। इनमें केंद्रीय मंत्री, राज्य मंत्री, सांसद, विदेशी दूत और धार्मिक नेता शामिल थे।

इस भूमिपूजन को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों ने जमकर प्रतिक्रिया दी। सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ने वाले हंसराज मीणा ने भी सवाल उठाया उन्होंने ट्वीट करके तंज भी कसा।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, पीएम @narendramodi जी, पहली बात तो जिस देश में गरीबों को दो वक्त का खाना व रात गुजारने के लिए छत ना हो वहाँ हजारों करोडों रुपये की बर्बादी नहीं करनी चाहिए। दूसरी बात शिलायन्स किया भी तो धार्मिक स्थान की नींव नहीं डाली जो मंत्रोच्चार किया, बेहतर होता संविधान की प्रस्तावना पढ़ते।

यही नहीं उन्होंने और भी कई ट्वीट किए। अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा ‘कुछ माह पहले “भव्य शिलायन्स” से दूर। अब “न्यू पार्लियामेंट” के शिलायन्स से दूर। दलितों को अपनी असली औकात व जगह बताई गई है। तुम धूल हो। कब आँधी बनोगो? पूछता है हंसराज मीणा।’

आपको बता दूं कि यह संसद भवन 20 हज़ार करोड़ की सेंट्रल विस्टा परियोजना का प्रमुख हिस्सा है, जिसका उद्देश्य राष्ट्रपति भवन राष्ट्रपति भवन से प्रतिष्ठित युद्ध स्मारक इंडिया गेट तक फैले 3 किमी राजपथ की ओर से सरकारी भवनों का निर्माण और नवीनीकरण करना है। परियोजना को चुनौती देने वाली सुप्रीम कोर्ट में कई याचिकाओं पर बहस अभी बाकी है।

 

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.