उत्तर कोरिया में सामने आया कोरोना वायरस का पहला मामला, लागू हुआ लॉक डाउन

BY- FIRE TIMES TEAM

उत्तर कोरिया ने अपने काएसोंग शहर में लॉक डाउन लागू कर दिया है, क्योंकि दावा किया गया है कि देश में कोरोना वायरस का पहला संदिग्ध मामला सामने आया है।

काएसोंग शहर की सीमाएं दक्षिण कोरिया से मिलती हैं।

समाचार एजेंसी एएफपी ने आधिकारिक कोरियन सेंट्रल न्यूज़ एजेंसी के हवाले से बताया कि एक रक्षक जो तीन साल पहले दक्षिण कोरिया के लिए रवाना हुआ था, 19 जुलाई को अवैध रूप से सीमा पार करने के बाद लौटा, लेकिन कोरोना वायरस को अपने साथ लेके आया।

राज्य के मीडिया ने कहा कि मरीज को सख्त आइसोलेशन के तहत रखा गया है, क्योंकि उसके संपर्क में कोई भी नहीं आया है। केसीएनए ने कहा कि यह एक “खतरनाक स्थिति है, जिससे जानलेवा और विनाशकारी आपदा पैदा हो सकती है”।

बीबीसी ने बताया कि उत्तर कोरियाई अधिकारियों ने कहा कि उन लोगों को कड़ी सजा दी जाएगी जो सीमा पार करने के लिए जिम्मेदार हैं। लेकिन दक्षिण कोरिया ने उत्तर में सीमा पार की किसी भी घटना की सूचना नहीं दी है।

उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन ने शनिवार को पोलित ब्यूरो की एक आपातकालीन बैठक बुलाई जिसमें वायरस को लेकर एक अधिकतम आपातकालीन प्रणाली और एक शीर्ष-श्रेणी का अलर्ट जारी” किया गया

किम को यह कहा कि “खतरनाक वायरस अब देश में प्रवेश कर चुका है।”

प्योंगयांग ने अब तक इस बात से इनकार किया है कि देश में वायरस के कोई मामले हैं। उत्तर कोरिया ने जनवरी में अपनी सीमाओं को पूरी तरह से बंद कर दिया था, और एक सख्त लॉक डाउन लागू किया था।

इस महीने की शुरुआत में, किम ने कहा कि देश अपनी सीमाओं को “भविष्य के लिए” बंद रखेगा।

जब पूरे विश्व में खतरनाक कोरोना वायरस तबाही मचा रहा था तब उत्तर कोरिया में वायरस का एक भी मामला नहीं था और इसे लेकर किम ने अपने देश की “सफलता” का जश्न भी मनाया था।

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.