यूपी की स्ट्रेटेजी: नो टेस्ट नो कोरोना लिखने पर योगी सरकार में पूर्व आईएएस पर मुकदमा

BY- FIRE TIMES TEAM

उत्तर प्रदेश में पहलेपत्रकारों पर खबरें दिखाए जाने पर मुकदमा दर्ज हो रहे थे अब इस कड़ी में आईएएस भी जुड़ गए हैं। पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह के खिलाफ लखनऊ के हजरतगंज थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है।

क्या है मामला?

पूर्व आईएएस रहे सूर्य प्रताप सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव पर आरोप लगाया कि उन्होंने ज्यादा कोरोना जांच करने पर अधिकारियों को हड़काया है।

सूर्य प्रताप ने ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा, ” सीएम योगी की टीम-11  की मीटिंग के बाद क्या मुख्य सचिव ने ज्यादा कोरोना टेस्ट कराने वाले कुछ डीएम को हड़काया की क्यों इतना तेजी पकड़े हो क्या इनाम पाना है, जो टेस्टस टेस्ट चिल्ला रहे हो क्या यूपी के मुख्य सचिव स्थिति स्पष्ट करेंगे? यूपी की स्ट्रेटजी, नो टेस्ट नो कोरोना।”

इसी ट्वीट के बाद पूर्व आईएएस के ऊपर लखनऊ के हजरतगंज थाने में एफआईआर हुई है। हजरतगंज थाने के इंस्पेक्टर अंजनी कुमार पांडेय ने बताया कि एफआईआर की धाराएं महामारी अधिनियम व दुष्प्रचार करने से संबंधित हैं।

एफआईआर के बाद सूर्य प्रताप सिंह ने कई ट्वीट किए। उन्होंने एक ट्वीट के माध्यम से कोरोना की संख्या और जनसंख्या को जोड़कर उत्तर प्रदेश को आड़े हाथों लिया।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने प्रवासी मजदूरों से संबंधित प्रश्न पूछा।

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.