बांद्रा में भीड़ जुटाने के आरोपी विनय दुबे के पिता को मुसलमान बता सोशल मीडिया पर किया वायरल?


BY – FIRE TIMES TEAM


हाल ही में आपने मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर भारी भीड़ का वीडियो तो देखा ही होगा। अफवाहों की वजह से यह भीड़ यहां पर इकट्ठा हुई थी। और इन्ही अफवाहों को फैलाने के आरोप में मुंबई पुलिस ने विनय दुबे सहित कुल 10 लोगों को गिरफ्तार किया था। जिसमें एबीपी मांझा के रिपोर्टर राहुल कुलकर्णी भी शामिल थे।

इस मामले में सोशल मीडिया में विनय दुबे को लेकर एक पोस्ट वायरल हो रही है। पोस्ट के जरिए दावा किया जा रहा है कि विनय दुबे के पिता का नाम महमूद है और वह मुसलमान हैं।

16 अप्रैल को शिव यादव नामक व्यक्ति ने एक ट्वीट करते हुए लिखा – ” विनय दुबे की मां ने एक #मुसलमान से शादी की थी, विनय दुबे के बाप का नाम “महमूद” है। इसका नाम विनय दुबे जानबूझकर रखा गया, जिससे कि इसे हिन्दू ब्राह्मण समझकर बहुत से हिन्दू भाई बहन गुमराह हो जाएं…..ये जेहादियों का महत्वपूर्ण पैंतरा है हिंदुत्व और देश को क्षति पहुंचाने का!”

शिव ने बाद में सफाई देते हुए कहा कि जो जानकारी उन्होंने शेयर की वो ग़लत थी। इस ओरिजिनल ट्वीट को 1100 बार रीट्वीट किया गया था।

फेसबुक यूजर विनुभाई वाला ने भी इसी तरह के दावे के साथ फोटो पोस्ट की थी। जिसे 19000 बार शेयर किया गया था।

The Print, alt news के फैक्ट चेक में यह दावा ग़लत साबित हुआ है। विनय दुबे के पिता का नाम जटाशंकर है और वह मुंबई में रिक्शा चलाते हैं।

हाल ही में जटाशंकर ने अपने बचत में से 25000 रुपए कोराना पीड़ितो के लिए मुख्यमंत्री सहायता निधि में दान दिए थे। महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने चेक लेते हुए फोटो 10 अप्रैल को ट्वीट किया था। जिसे विनय दुबे ने रीट्वीट करते हुए लिखा था – “मुझे अपने पिता पर गर्व है।”

 

विनय दुबे एरोली नवी मुंबई का रहने वाला है। खुद को समाज सेवक बताता है। और उसका कॉरपोरेट ट्रेडिंग का बिज़नेस भी है। विनय साल 2019 में कल्याण सीट से विधानसभा का चुनाव भी लड़ चुका है। उस दौरान चुनाव आयोग को दी गई जानकारी के अनुसार उसके पिता का नाम जटाशंकर दुबे है ना की महमूद।

विनय दुबे के पिता का नाम महमूद होने का दावा पूरी तरह से ग़लत है।

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.