लखीमपुर खीरी: चौकी इंचार्ज अनेकपाल सिंह ने 10-20 रुपये के लिए विक्रम गौतम की दुकान को तोड़ डाला

 BY- FIRE TIMES TEAM

उत्तर प्रदेश की पुलिस किस प्रकार से कार्य कर रही है यह हर कोई जानता है। जिस प्रकार से आम जनता के प्रति पुलिस का व्यवहार है वह सही नहीं है। हर रोज उत्तर प्रदेश पुलिस की शिकायत आती रहती है जिसमें जनता के उत्पीड़न का मामला सामने आता है।

अब लखीमपुर खीरी में एक ऐसा मामला सामने आया है जिससे पूरी पुलिस फोर्स पर सवालिया निशान लगता है। यहां एक छोटे पटरी की दुकान चलाने वाले व्यक्ति से न केवल पुलिस वालों 500 रुपए छीन लिए बल्कि उसकी दुकान को भी तोड़ दिया।

मामला लखीमपुर खीरी जिले के थाना मैलानी में पड़ने वाली चौकी बांकेगंज के गांव स्टेशनपुरवा का। यहां विक्रम सिंह(गौतम) पान की एक छोटी सी गुमटी चलाता है।

27 अगस्त की शाम को बांकेगंज चौकी इंचार्ज अनेकपाल सिंह व दो सिपाही विक्रम की पान की दुकान पर आए और उन्होंने कुछ पान-मसाला खरीदा।

पान-मसाला खरीदने के बाद चौकी इन्चार्ज अनेकपाल सिंह बिना पैसे दिए ही जाने लगे। इसपर दुकान चलाने वाले विक्रम ने उन्हें पैसे देने के लिए टोका। बस इसी बात को लेकर चौकी इंचार्ज झुल्ला गए और गाली गलौज करने लगे।

चौकी इंचार्ज ने विक्रम का गला पकड़ कर दुकान से बाहर कर दिया। जाति सूचक शब्द का इस्तेमाल करते हुए उसे मारा भी। वर्दी के नशे में वह इतने चूर हो गए कि विक्रम की दुकान को भी तोड़ डाला।

गल्ले में रखे 500 रुपये भी निकाल लिए और जो सामान था दुकान में उसको भी नष्ट कर दिया। गांव के लोग तमाशा देखते रहे और वर्दीधारी खूब तमाशा करते भी रहे।

बताया यह भी जा रहा है कि चौकी इंचार्ज दारू के नशे में थे। नशे में वह अपना आपा खो बैठे। लोग यह भी कह रहे हैं कि वह अक्सर ऐसा करते हैं जिससे क्षेत्र में माहौल खराब होता है।

विक्रम ने लखीमपुर खीरी के पुलिस अधीक्षक को एक पत्र भी लिखा है।

इस पत्र के माध्यम से विक्रम ने चौकी इंचार्ज अनेकपाल सिंह व अन्य दो पुलिस सिपाही अनुज व रविंदर के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज की जाए। साथ ही इन तीनों पुलिस कर्मियों को पुलिस सेवा से भी बर्खास्त किया जाए।

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.