भारत में कोरोना से लगभग 200 डॉक्टरों की मौत, क्या प्रधानमंत्री इस पर अब कुछ बोलेंगे?

 BY- FIRE TIMES TEAM

भारत में कोरोना संक्रमण कम होने का नाम नहीं ले रहा है। कुल मामले 21 लाख से भी ज्यादा हो गए हैं और अब हर रोज लगभग 60 हज़ार मामले सामने आ रहे हैं। अब तक 43,379 लोग कोरोना के कारण अपनी जान गंवा चुके हैं।

भारत में डॉक्टर भी बड़ी मात्रा में कोरोना की चपेट में आये हैं। भारतीय चिकित्सा संगठन के अनुसार देश में अब तक 196 डॉक्टरों की मौत कोरोना के कारण हो चुकी है। संगठन ने इस मसले पर प्रधानमंत्री से ध्यान देने का आग्रह किया है।

प्रधानमंत्री को लिखे गए पत्र में संगठन ने डॉक्टरों और उनके परिवार के लिए पर्याप्त देखभाल सुनिश्चित करने का आग्रह किया है। संगठन ने सभी सेक्टरों के डॉक्टरों के लिए सरकार की तरफ से चिकित्सकीय व जीवन बीमा देने के लिए भी आग्रह किया।

समाचार वेबसाइट स्क्रोल की रिपोर्ट के अनुसार आईएमए (भारतीय चिकित्सा संगठन) ने जो पत्र प्रधानमंत्री को लिखा है उसमें उन 196 डॉक्टरों का जिक्र किया गया है जिनकी मौत कोरोना के कारण हुई है। तमिलनाडु ऐसा राज्य है जहां सबसे अधिक 43 डॉक्टरों की मौत हुई है।

अपने भाषण में प्रधानमंत्री ने कहा था कि भारत अन्य देशों की तुलना में अच्छा कर रहा है। अब जब डॉक्टरों की बड़े पैमाने पर मौत हो रही है तब क्या प्रधानमंत्री अपने भाषण में इनका जिक्र करेंगे?

जिन 196 डॉक्टरों की मृत्यु हुई है उनमें से 170 की उम्र 50 से अधिक थी और इनमें से 40 फीसदी जनरल प्रैक्टिशनर्स थे। सिर्फ डॉक्टर ही नहीं पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता और अन्य क्षेत्र के लोग भी कोरोना से लड़ने में अपनी जान दांव पर लगा रहे हैं।

9 अगस्त की सुबह आये अपडेट के अनुसार भारत में पिछले 24 घंटे के दौरान 64,399 मामले सामने आए जिसके बाद कुल मामलों की संख्या 21 लाख के आंकड़े को पार कर गई।

यह भी पढ़ें: जमातियों को पकड़ने पर 11000 का इनाम देने की बात कहने वाले हिन्दू युवा वाहिनी के नेता की कोरोना से मौत

भारत में पिछले कई दिनों से प्रत्येक दिन औसतन 60 हज़ार मामले सामने आ रहे हैं। यदि ऐसा ही रहा तो हम शायद आने वाले दिनों में अमेरिका को भी पीछे कर दें।

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.