शादी से किया इनकार तो साथी डॉ विवेक तिवारी ने कर दी डॉ योगिता गौतम की हत्या

BY- FIRE TIMES TEAM

उत्तर प्रदेश के आगरा में 26 साल की डॉक्टर योगिता गौतम की हत्या के मामले में उनके दोस्त डॉ. विवेक तिवारी को गिरफ्तार किया गया है।

विवेक ने अपना गुनाह कबूल भी कर लिया है। उसने बताया कि वह योगिता से शादी करना चाहता था, लेकिन उसने इनकार कर दिया था।

डॉ. विवेक ने पूछताछ में बताया, “मंगलवार शाम को मैं जालौन से योगिता से मिलने आगरा आया था। योगिता कार में बैठी तभी उससे बहस शुरू हो गई। बहस इतनी बढ़ गई कि मैंने गुस्से में आकर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी।”

पुलिस ने योगिता की हत्या में इस्तेमाल चाकू को भी बरामद कर लिया है।

तिवारी ने कहा, “मुझे लगा कि वह मरी नहीं है। मैं अपनी कार में चाकू रखता हूं। उसी चाकू से योगिता के सिर पर वार किए। फिर सुनसान जगह पर शव फेंक दिया।”

पुलिस ने बताया कि दोनों के बीच 7 साल से रिलेशन में थे।

बमरौली गांव के पास मिला था डॉक्टर का शव

योगिता का शव बुधवार को आगरा में डौकी इलाके में बमरौली गांव के पास खेत में मिला। उसके सिर और चेहरे पर चाकू से हमला किया गया था। शव लोअर-टीशर्ट में था। स्पोर्ट्स जूते पास में पड़े थे।

आरोपी डॉक्टर विवेक। बुधवार रात को पुलिस ने विवेक को उरई से गिरफ्तार किया है।

तलाशी में जेब से कोई पहचान पत्र या अन्य दस्तावेज नहीं मिले। मोबाइल भी गायब था। शाम को शव की शिनाख्त एसएन मेडिकल कॉलेज में स्त्री रोग विभाग में पीजी की छात्रा डॉक्टर योगिता गौतम के रुप में हुई।

योगिता मंगलवार शाम से गायब थी। इस बारे में योगिता के परिवार वालों ने पुलिस थाने में शिकायत भी दी थी।

शादी का दबाव बना रहा था डॉक्टर विवेक तिवारी

बहन का शव मिलने के बाद योगिता के भाई डॉक्टर मोहिंदर ने डॉ. विवेक तिवारी पर शक जाहिर किया था।

उन्होंने पुलिस को बताया कि विवेक लगातार योगिता पर शादी का दबाव बना रहा था। योगिता ने उससे शादी से मना कर दिया था। इसी बात को लेकर विवेक ने उसकी हत्या की।

दिल्ली की रहने वाली थी योगिता

डॉक्टर योगिता दिल्ली के शिवपुरी कॉलोनी पार्ट-2 में रहती थी। उन्होंने 2009 में मुरादाबाद के तीर्थकर मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस किया था। 3 साल पहले एसएन मेडिकल कॉलेज में पीजी में एडमिशन लिया था।

वह आगरा में थाना एमएम गेट के नूरी दरवाजे में किराए पर रहती थीं। डॉक्टर योगिता का कोविड-19 से पीड़ित मरीजों के इलाज में महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

आरोपी डॉक्टर विवेक तीर्थंकर मेडिकल कॉलेज में योगिता से एक साल सीनियर था। तभी उसकी मुलाकात हुई थी।

एसएसपी आगरा बबलू कुमार ने बताया कि डॉ. विवेक से पूछताछ की जा रही है। घटना में इस्तेमाल गाड़ी और हथियार बरामद कर लिया गया है।

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.