कोरोना वायरस की वैक्सीन अगले साल शुरुआत से पहले नहीं बन पाएगी: विजय राघवन

BY- FIRE TIMES TEAM

विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, जैव प्रौद्योगिकी विभाग, वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद के वैज्ञानिक और प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के विजय राघवन ने शुक्रवार को एक संसदीय स्थायी समिति को बताया कि कोरोना वायरस के लिए एक वैक्सीन की उम्मीद अगले साल की शुरुआत में ही की जा सकती है।

राघवन का यह बयान ICMR के उस बयान का उलट है जिसमें कहा गया था कि कोरोना वायरस के लिए वैक्सीन 15 अगस्त तक बन जाएगी।

ICMR के बयान की काफी आलोचना भी हुई थी, कुछ वैज्ञानिकों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने समय सीमा को अनुचित और बेतुका बताया था।

विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पर्यावरण और जलवायु पर संसदीय स्थायी समिति अध्यक्षता कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने की।

कोरोना वायरस महामारी को संभालने के लिए सरकार की तैयारियों पर चर्चा करने के लिए समिति के 30 सदस्यों में से केवल छह ने शुक्रवार को इसकी बैठक में भाग लिया था।

रमेश ने पिछले तीन महीनों में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को तीन पत्र लिखे थे, जिसमें अनुरोध किया गया था कि पैनल को वस्तुतः मिलने की अनुमति दी जाए।

25 मार्च के बाद से जबसे पूर्ण लॉक डाउन लागू किया था, शुक्रवार को पैनल की पहली बैठक का आयोजन हुआ।

रमेश ने बैठक के बाद कहा, “मैं पार्टी लाइनों के सभी साथी समिति सदस्यों को धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने कठिन परिस्थितियों में बैठक में भाग लिया और अधिकारियों ने इस प्रक्रिया को समृद्ध किया। इस तरह की बातचीत से हमारा लोकतंत्र मजबूत होता है।”

नायडू ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि जिन स्थायी समितियों को बुलाने की अनुमति दी गई है वे अपने डोमेन के भीतर महत्वपूर्ण मामलों की जांच करेंगे।

उन्होंने कहा, “मुझे खुशी है कि संबंधित संसद की स्थायी समितियों ने 23 मार्च को संसद के अंतिम बैठक के तीन से साढ़े तीन महीने के कामकाज को फिर से शुरू कर दिया है।”

उन्होंने कहा, “सभी संभव उपाय किए गए थे कि समितियों की बैठकें, सोशल डिस्टेनसिंग के मानदंडों, मास्क पहनने आदि के अनुपालन के साथ हों।”

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार, भारत में शुक्रवार को 27,762 नए मामलों में एक दिन की वृद्धि दर्ज की, और देश के कुल मामले अब 8,22,604 हो गए हैं।

देश में मरने वाले लोगों की संख्या अब 22,153 हो चुकी है, वहीं 5,16,338 लोग इस बीमारी से सही हो चुके हैं।

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.