कांग्रेस विधायक का दावा; हेमंत सोरेन सरकार को गिराने के लिए उन्हें मंत्री पद और 1 करोड़ रुपये की पेशकश की गई थी

BY- FIRE TIMES TEAM

झारखंड में गठबंधन सरकार के खिलाफ कथित तौर पर साजिश रचने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। आरोप है कि यह लोग भारी मात्रा में रुपये लेकर हेमंत सोरेन सरकार को गिराने की साजिश कर रहे थे।

अब इसमें कांग्रेस के विधायक का यह दावा कि उनको एक करोड़ की पेशकश की गई थी, झारखंड की राजनीति में नया मोड़ ले लिया है।

हालांकि, कोलेबिरा के विधायक नमन बिक्सल कोंगारी ने कहा कि वह इस बात की पुष्टि नहीं कर सकते कि गिरफ्तार किए गए तीन लोग वही लोग थे जिन्होंने उनसे संपर्क किया था।

कांग्रेस के विधायक ने रविवार को दावा किया कि कुछ अज्ञात लोगों ने उनसे कई बार संपर्क किया और झामुमो-कांग्रेस-राजद सरकार को गिराने के लिए 1 करोड़ रुपये और मंत्री पद की पेशकश की। .

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के अनुसार कोलेबिरा के विधायक नमन बिक्सल कोंगारी ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि तीन लोगों ने उनसे करीब छह बार संपर्क किया।

विधायक ने कहा, “तीन लोगों ने मेरी पार्टी के कार्यकर्ताओं के माध्यम से मुझसे संपर्क किया था कि वे कुछ कंपनियों के लिए काम करते हैं। उन्होंने मुझे 1 करोड़ रुपये से अधिक नकद की पेशकश की। मैंने तुरंत सीएलपी [कांग्रेस विधायक दल] के नेता आलमगीर आलम और कांग्रेस झारखंड प्रभारी आर पी एन सिंह को सूचित किया। मैंने इसके बारे में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी को भी सूचित किया था।”

उधर आरपीएन सिंह ने कहा: “मैं इन मामलों पर प्रेस के साथ चर्चा नहीं कर सकता। इस मुद्दे पर भी मुख्यमंत्री सोरेन ने अब तक चुप्पी साध रखी है.”

कोंगारी ने आगे दावा किया: “उन्होंने मुझसे यह कहते हुए संपर्क किया था कि पैसे के अलावा, मुझे अल्पसंख्यक और आदिवासी मामलों से संबंधित हमारे सभी एजेंडे के लिए एक मंत्री पद और समर्थन मिलेगा। उन्होंने मुझे यह भी बताया कि वे यह भाजपा के लिए कर रहे हैं। हालांकि, भाजपा के किसी भी कार्यकर्ता ने मुझसे संपर्क नहीं किया।”

विधायक ने कहा कि वह इस बात की पुष्टि नहीं कर सकते कि गिरफ्तार किए गए तीन लोग वही लोग थे जिन्होंने उनसे संपर्क किया था। उन्होंने कहा कि उनके चेहरे याद नहीं है।

कांग्रेस के बेरमो विधायक कुमार जयमंगल की शिकायत पर रांची के कोतवाली थाने में पुलिस द्वारा मामला दर्ज करने के दो दिन बाद शनिवार को अभिषेक दुबे, अमित सिंह और निवारण प्रसाद महतो को गिरफ्तार किया गया.

आरोपी निवारण प्रसाद महतो के फेसबुक पेज में भाजपा के धनबाद के सांसद पशुपति नाथ और कुछ स्थानीय नेताओं के साथ उनकी तस्वीरें दिखाई गई हैं।

यह पूछे जाने पर कि क्या महतो पार्टी से जुड़े हैं, झारखंड भाजपा के प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा: “वह मेरी जानकारी के अनुसार भाजपा के सदस्य नहीं हैं।”

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.