किसान आंदोलन पर बॉलीवुड हस्तियों ने केन्द्र सरकार के दबाव में आकर किये ट्वीट, महाराष्ट्र सरकार को शक, करायेगी जांच

BY – FIRE TIMES TEAM

किसान आंदोलन के समर्थन में पॉप स्टार सिंगर रिहाना के ट्वीट करने के बाद बॉलीवुड-खेल से जुड़ीं विभिन्न हस्तियों द्वारा ट्वीट्स किए जाने के मामले में उद्धव सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। महाराष्ट्र सरकार ने इन सेलिब्रिटीज द्वारा ट्वीट्स किए जाने को लेकर जांच के आदेश दिए हैं।

पिछले दिनों विदेश मंत्रालय द्वारा प्रतिक्रिया दिए जाने के बाद बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार, अजय देवगन, लता मंगेशकर, क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर समेत कई हस्तियों ने ट्वीट्स किए थे।

किसान आंदोलन पर केन्द्र के समर्थन में हुए ट्वीट की होगी जांच-

इन ट्वीट्स में उन्होंने इंडिया टुगेदर और इंडिया अगेंस्ट प्रोपेगैंडा के हैशटैग भी लगाए थे। बता दें कि सचिन तेंदुलकर और लता मंगेशकर को ‘भारत रत्न’ के सम्मान से भी नवाजा जा चुका है।

बड़ी हस्तियों के द्वारा किए गए ट्वीट के मामले में कांग्रेस नेता सचिन सावंत ने राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख से हुई बातचीत का हवाला देते हुए कहा, ‘गृह मंत्री ने कहा है कि यह गंभीर मामला है। इन सेलिब्रेटिज़ के ट्वीट्स समान कैसे हो सकते हैं।

इन सेलिब्रिटीज पर ट्वीट करने के लिए कोई दबाव तो नहीं डाला गया। इसकी जांच होनी चाहिए।’ सावंत ने साथ ही बताया कि देशमुख ने इंटेलिजेंस को यह ज़िम्मेदारी दी है।

यह भी पढ़ेंः किसान आंदोलन समर्थन पर शुरू जुबानी जंग, सोशल मीडिया बना अन्तर्राष्ट्रीय अखाड़ा

महाराष्ट्र सरकार ने इन ट्वीट्स के खिलाफ इंटेलिजेंस विभाग को जांच करने के लिए कहा है। इन ट्वीट्स की शिकायत कांग्रेस ने की थी और आरोप लगाया था कि ज्यादातर ट्वीट्स का एक ही पैटर्न था।

राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कांग्रेस के डेलिगेशन को यह आश्वासन दिया कि महाराष्ट्र पुलिस का इंटेलिजेंस विभाग भारतीय हस्तियों के ट्वीट्स की जांच करेगा और पता करेगा कि क्या इस तरह के ट्वीट के लिए बीजेपी ने कोई दबाव डाला था।

इससे पहले, एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे ने भी सितारों के ट्वीट्स करने को लेकर सरकार पर हमला बोला था। राज ठाकरे ने कहा था कि केंद्र सरकार को लता मंगेशकर और सचिन तेंदुलकर को उसके रुख के समर्थन में ट्वीट करने के लिए नहीं कहना चाहिए था और उनकी प्रतिष्ठा को दाव पर नहीं लगाना चाहिए था।

अब उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रॉलिंग का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार को अपने अभियान के लिए अक्षय कुमार जैसे अभिनेताओं का इस्तेमाल ही सीमित रखाना चाहिए।

बता दें कि महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं ने इस मामले में पुलिस से जांच कराने की मांग की थी कि कहीं ये सेलिब्रिटीज ट्वीट करके सोशल मीडिया पर केंद्र सरकार का पक्ष रखने के लिए बीजेपी के दबाव में तो नहीं किए गए।

कांग्रेस के राज्‍य महासचिव और प्रवक्‍ता सचिन सावंत ने इस मांग को लेकर महाराष्‍ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख से मुलाकात भी की थी।

एक ही पैटर्न है ट्वीट का-

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सावंत ने कहा था, ‘सचिन तेंदुलकर, अक्षय कुमार, सुनील शेट्टी और साइना नेहवाल जैसे सेलिब्रिटीज की ओर से इस मामले में किए गए ट्वीट का पैटर्न बिलकुल एक जैसा है।

साइना नेहवाल और अक्षय कुमार के ट्वीट का कंटेंट एक है, जबकि सुनील शेट्टी ने ट्वीट में बीजेपी नेता को टैग किया था। ये दर्शाता है कि सेलिब्रिटीज और सत्‍ताधारी पार्टी के नेताओं के बीच संपर्क था।

इस बात की जांच होनी चाहिए कि क्‍या बीजेपी की ओर से देश के इन हीरो पर कोई दबाव था। अगर ऐसा था तो इन सेलिब्रिटीज को अधिक सुरक्षा देने की जरूरत है।’

About Admin

One comment

  1. Pingback: %title%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *