कश्मीर: चुनाव प्रचार के दौरान डल झील में भाजपा के सदस्यों को ले जाते हुए नाव पलटी

BY- FIRE TIMES TEAM

भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं और कुछ कैमरा व्यक्तियों को ले जा रही एक नाव आज श्रीनगर की डल झील में पलट गई। नाव में भारतीय जनता पार्टी के नेता अनुराग ठाकुर और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ सहित अन्य लोग मौजूद थे।

कश्मीर की प्रसिद्ध डल झील के ठंडे पानी में गिरे सदस्यों को तुरंत बचा लिया गया।

पार्टी ने चल रहे जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनावों के लिए डल झील में शिकारा (लकड़ी की नाव) रैली का आयोजन किया था। कई कार्यकर्ताओं को ले जाने वाली नौकाओं में से एक जो चेर चिनल से सटे घाट नंबर सत्रह के पास स्थित थी अचानक से पलट गई।

अनुराग ठाकुर के अलावा जम्मू-कश्मीर में डीडीसी चुनावों के लिए बीपीजे के प्रभारी और तरुण चुघ, भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज़ हुसैन और कई स्थानीय नेता भी रैली में मौजूद थे।

शाहनवाज हुसैन ने बताया, “नाव पर कई मध्यस्थ थे। शुक्र है कि हर कोई सुरक्षित है। डल झील पर यह एक बहुत अच्छी रैली थी। लेकिन, जब नाव तट के पास पहुंची तो नाव पलट गई।”

यह घटना उस दिन हुई जब जम्मू-कश्मीर में डीडीसी चुनाव का छठा चरण चल रहा है। इस बीच, कश्मीर में सोशल मीडिया पर पलटी हुई नाव की तस्वीरें जिसपर भाजपा के नेता सवार थे, की तस्वीरों और नेटिज़न्स की प्रतिक्रियाओं से सोशल मीडिया पर बाढ़ आ गई।

जम्मू-कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रवक्ता नजमू साकिब ने घटना की तस्वीरें साझा करते हुए ट्विटर पर लिखा, “हमारी डल झील में आयातित कमल नहीं उगते हैं। आशा है कि हर कोई सुरक्षित है।”

कांग्रेस नेता सलमान निज़ामी ने भी अपने ट्विटर पर पलटी हुई नाव की तस्वीर साझा की और इसे कैप्शन दिया, “भाजपा डल झील में डूब गई, कश्मीर!”

कश्मीर के पत्रकार अहमद अली फय्याज ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “लाइव देखें कि श्रीनगर की डल झील में भाजपा की नाव कैसे पलटी और @ShahnawazBJP सहित वरिष्ठ @ BJP4India नेताओं को स्थानीय शिकारा संचालकों ने बचाया। कश्मीर में भारत की अंतिम राजनीतिक नाव 1984 में खानकाह मौला के पास झेलम नदी में ढली थी।”

यह भी पढ़ें- तुम्हें खुदकुशी करने वाले किसान पसंद आते हैं पिज्जा खाते किसानों को देखकर दर्द होना लाजमी है: इमरान प्रतापगढ़ी

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.