Photo source : twitter

बिहारः गया में गैंगरेप के बाद दलित युवती ने ली अपनी जान, पप्पू यादव ने आंखों पर पट्टी और बेड़ियों के साथ किया प्रदर्शन

BY – FIRE TIMES TEAM

उत्तर प्रदेश में हाथरस गैंगरेप की घटना के बाद भी प्रदेश में ही नहीं देशभर में इस तरह की घटनाएं लगातार आ रही हैं। इसी तरह कई घटनाएं बिहार में भी सामने आ रही हैं।

इसी बीच बिहार के गया में एक दलित युवती से गैंगरेप की घटना सामने आई है। जिसमें जानकारी मिल रही है कि युवती ने बलात्कार के बाद अपने घर पर आत्महत्या कर ली है।

जानकारी के मुताबिक दलित लड़की गांव के ही एक परिवार में जन्मदिन पार्टी मनाने गई थी। बर्थडे पार्टी से लौटते वक्त ही इस सामूहिक बलात्कार की घटना को आरोपियों ने अंजाम दिया। पूरी रात युवती के साथ हैवानियत की गई।

उधर लड़की का परिवार रात भर अपनी बेटी की तलाश करता रहा। सुबह होते ही लड़की अपने घर पहुंची और रोते हुए कमरे का दरवाजा बंद कर लिया। परिजनों के मुताबिक उसके बाद उसने आत्महत्या कर ली।

पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। परिजनों ने जिन चार लोगों पर केस दर्ज कराया है उनमें – राहुल कुमार, चंदू कुमार, चिंटू कुमार और एक अज्ञात शख्स शामिल है।

वहीं जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव ने देश में बेटियों के खिलाफ हो रहे जबरदस्ती के खिलाफ प्रदर्शन किया। पप्पू यादव ने शनिवार को अपनी आंखों पर पट्टी बांधकर, जंजीर लपेटकर और काले कपड़े पहनकर अपने कार्यकर्ताओं के साथ प्रदर्शन किया।

उन्होने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ऊपर आरोप लगाया है कि सरकार बलात्कारियों और गुंडों को बचा रही है। पप्पू यादव ने प्रधानमंत्री मोदी से योगी सरकार को बर्खास्त करने की भी मांग की।

जाप अध्यक्ष ने उत्तर प्रदेश के साथ-2 भभुआ, बक्सर और गया में बेटियों से हुई जबर्दस्ती के मामलों की स्पीडी ट्रायल की मांग की। पप्पू यादव और उनके कार्यकर्ताओं ने जुर्म मत करो – जुर्म मत सहो, दलितो पर जुल्म बंद करो और योगी सरकार शर्म करो जैसे नारे लिखी तख्तियों के साथ पदर्शन किया।

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.