बिहार विधानसभा चुनाव 29 नवंबर से पहले हो जायेगा सम्पन्न, साथ ही 65 सीटों पर होंगे उपचुनाव

BY – FIRE TIMES TEAM

कोरोना महामारी के बावजूद चुनाव आयोग ने साफ कर दिया है कि बिहार में चुनाव तय समय पर ही होंगे। इसके साथ शुक्रवार को चुनाव आयोग ने एक बड़ा ऐलान भी कर दिया है कि बिहार विधानसभा चुनाव के साथ ही 65 सीटों पर उपचुनाव भी होंगे। इसमें 1 सीट लोकसभा की और बाकी 64 सीटें विधानसभा की शामिल हैं।

चुनाव आयोग ने यह भी स्पष्ट किया कि बिहार विधानसभा चुनाव की तिथियों की घोषणा उचित समय पर की जायेंगी। आयोग ने यह भी कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव 29 नवंबर से पहले सम्पन्न करा लिये जायेंगे। और जिन सीटों पर उपचुनाव हैं उनकी तारीखों का ऐलान भी जल्द किया जायेगा।

चुनाव आयोग ने एक समय पर बिहार विधानसभा और 65 सीटों पर उपचुनाव कराने की एक ठोस वजह बताई है। आयोग के अनुसार एक साथ चुनाव कराने के कारकों में से एक सीएपीएफ/ अन्य कानून , व्यवस्था बलों और चुनाव से जुड़े अन्य लॉजिस्टिक्स का एक साथ इस्तेमाल में लाना है।

आपको बता दें कि बाढ़, कोरोना महामारी और अन्य वजहों से कई राजनीतिक दलों ने चुनाव टालने की सिफारिश की थी। कुछ दिनों पहले देश में कोरोना वायरस महामारी के दौरान चुनाव कराने के लिए आयोग ने विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किये थे। जिनमें घर-घर प्रचार और रैलियों के लिए मानकों को तय किया गया था। और मतदान के दौरान वोटरों को डिस्पोजेबल दस्ताने उपलब्ध कराये जायेंगे।

बिहार विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त हो रहा है। प्रदेश में उससे पहले चुनाव और नई सरकार का गठन होना है। सामान्यतया कई चरणों में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव के लिए इस बार संभवतः दो चरणों में मतदान कराया जा सकता है।

बिहार विधान सभा चुनाव के लिए राजनीतिक दल भी तेजी से तैयारियां कर रहे हैं। बिहार में गठबंधन की पार्टियों में सीटों के बटवारे की कवायद लगातार जारी है। महागठबंधन के सबसे बड़े घटक दल राजद ने सीटों के बटवारे को फाइनल कर दिया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राजद को 135-140, कांग्रेस 45-50, रालोसपा 23-25, सीपीआई माले 12-15, मुकेश शहनी की वीआईपी को 8-10, सीपीआई 3-5, सीपीआई -एम को 2-3 सीटें मिल सकती हैं।

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.