किसान आंदोलन में 11 किसानों की मौत के बाद राहुल ने मोदी से पूछा और कितने किसानों को देनी होगी आहुति

BY – FIRE TIMES TEAM

कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली में किसानों के आंदोलन का आज 17वां दिन है। जहां किसान तीनों कानूनों को रद्द करने की मांग पर अड़े हुए हैंं वहीं सरकार पीछे हटने का नाम नहीं ले रही है।

कड़ाके की ठंड के बीच किसान आंदोलन में अभी तक 11 किसान दम तोड़ चुके हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने 11 किसानों की मौत को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने केंद्र सरकार से सवाल किया है कि इस काले कानून को हटाने के लिए अभी और कितने किसान भाईयों को आहुति देनी होगी?

यह भी पढ़ेंः भारतीय किसान यूनियन ने कृषि कानूनों के विरोध में सुप्रीम कोर्ट में दायर की याचिका

ये किसान पंजाब और हरियाणा के अलग-अलग हिस्सों के निवासी थे।  बीते दिनों पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि किसान आंदोलन में मारे गए लोगों के परिजनों को मुआवाजा दिया जाएगा।

वायनाड सांसद ने एक अखबार की कटिंग शेयर करते हुए लिखा, ‘कृषि क़ानूनों को हटाने के लिए हमारे किसान भाइयों को और कितनी आहुति देनी होगी?’ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष द्वारा शेयर की गई खबर में दावा किया गया है कि अब तक 11 किसानों की मौत हो गई है।

खबर में कहा गया है कि तन्ना सिंह, जनकराज, गजन सिंह, गुरजंट सिंह, लखबीर सिंह, सुरेंद्र सिंह, मेवा सिंह, राममेहर, अजय कुमार, किताब सिंह और कृष्ण लाल गुप्ता की मौत हो चुकी है।

राहुल गांधी ने इससे पहले शुक्रवार को किसानों की आय को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा था। राहुल गांधी ने किसानों की आमदनी को लेकर एक चार्ट शेयर किया था, जिसमें पंजाब के किसान की आय पूरे देश में सबसे ज्यादा थी।

राहुल गांधी ने कहा था कि देश का किसान पंजाब के किसान जितनी आय चाहता है, लेकिन मोदी सरकार उनकी आय बिहार के किसान जितनी करना चाहती है।

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.