कोरोना संकट: अब्दुर्रहमान ने मजदूरी कर हज के लिए जोड़े थे पैसे, लोगों को भूखा देख सब खर्च कर दिए


BY- FIRE TIMES TEAM


कोरोना संकट से पूरे विश्व में तबाही मची हुई है। लोग जिस परेशानी का सामना कर रहे हैं शायद इससे पहले किया हो। सबसे ज्यादा मजदूर, गरीब, किसान, प्रवासी परेशान हैं।

लोग 1000 किमी से भी ज्यादा का सफर तय कर अपने घर पहुंच रहे हैं। कई लोग इस कारण अपनी जान भी गवां चुके हैं।

इस संकट के बीच मंगलौर निवासी एक 55 वर्षीय मजदूर अब्दुर्ररहमान ने पूंजीपतियों को भी पीछे छोड़ दिया है।

दरअसल अब्दुर्रहमान इस साल हज़ पर जाना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने काफी दिन पहले से ही पैसे जोड़ना शुरू कर दिया था। अब जब संकट आया तो उनके सामने कई ऐसे मजदूर भी आ गए जिनके पास खाने को नहीं था।

अब्दुर्रहमान ने बिना किसी देरी किए हज के लिए जोड़े गए पैसों को गरीब लोगों को खाना उपलब्ध कराने में लगा दिया। खेतों में मेहनत मजदूरी कर गुजर बसर करने वाले अब्दुर्ररहमान के इस कदम की तारीफ भी हो रही है।

अब्दुर्रहमान ने अपनी कमाई का एक-एक पैसा जोड़कर इस यात्रा का पूरा इंतजाम भी कर लिया था।

‘टाइम्सऑफइंडिया‘ के मुताबिक, मंगलौर के बंतवाल के रहने वाले अब्दुर्रहमान ने 25 ऐसे परिवारों की मदद की जिनके घरों में खाने को राशन तक नहीं था। उन्होंने लोगों के घर चावल और बाकी खाने का सामान वितरित किया।

उनके बेटे इलियास ने बताया कि उनके पिता बतौर मजदूर काम करते हैं। उनकी मां घर पर रहती हैं। वो कहते हैं कि उनके पिता बीते काफी वर्षों से हज यात्रा के लिए पैसे इकट्ठा कर रहे थे। लेकिन जब ये लॉकडाउन हुआ और उन्होंने इलाके के गरीब लोगों को भूखे देखा, तो उनसे रहा नहीं गया। लिहाजा, वे उनकी मदद करने के लिए आगे आए।


 

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.